Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

यूक्रेन ने 24 घंटों में ही रूसी कब्जे से 20 शहरों को छुड़ाया, रूस ने तेज किये हमले

जानकारों का कहना है कि पूर्वी मोर्चे पर मात खाने के बाद तिलमिलाया रूस केमिकल अटैक भी कर सकता है। रूसी सेना ने खार्किव में वॉटर-पावर सप्लाई ठिकानों पर बमबारी तेज कर दी है। रूस ने दावा किया है कि यूक्रेन द्वारा मुक्त कराए गए शहरों पर जल्द फिर कब्जा होगा।

Published

on

यूक्रेन ने 24 घंटों में ही रूसी कब्जे से 20 शहरों को छुड़ाया, रूस ने तेज किये हमले

रूस ने यूक्रेन पर एक बार फिर हमले तेज कर दिए हैं। रूसी रक्षा मंत्रालय ने दावा किया है कि उनके सैनिक यूक्रेनी फोर्स पर एयर, रॉकेट और आर्टिलरी फोर्स से हमला कर रहे हैं। दरअसल, जंग को 200 दिन पार होते ही यूक्रेनी सेना ने रूस पर जवाबी हमला किया था। यूक्रेन ने 24 घंटों में ही रूसी कब्जे से 20 शहरों को छुड़ा लिया। खार्किव सहित पूर्वी इलाकों में यूक्रेनी सेना अमेरिकी हार्म मिसाइल से रूसी सेनाओं पर कहर बरपा रही है। फाइटर जेट से दागी जाने वाली ये हाईस्पीड एंटी रेडिएशन मिसाइल 2300 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दुश्मन के रडार पर हमला करती है। अमेरिका ने यूक्रेन को ऐसी 1200 मिसाइल दी हैं। रूसी रडार सिस्टम के पास हार्म मिसाइल की कोई काट नहीं है। रूस, यूक्रेन के खिलाफ साइबर हमलों को तो अंजाम देता रहा है। जानकारों का कहना है कि पूर्वी मोर्चे पर मात खाने के बाद तिलमिलाया रूस केमिकल अटैक भी कर सकता है। रूसी सेना ने खार्किव में वॉटर-पावर सप्लाई ठिकानों पर बमबारी तेज कर दी है। रूस ने दावा किया है कि यूक्रेन द्वारा मुक्त कराए गए शहरों पर जल्द फिर कब्जा होगा।

अब दक्षिणी डोनबास इलाके में ही रूस का कब्जा रह गया है। यूक्रेन सरकार के प्रवक्ता ने सोमवार को कहा की खार्किव से रूसी फौज वापस जा रही है। अब रूस भी यूक्रेन की कार्रवाई की सख्ती से जवाब दे रहा है। तो वही रूसी संसद में पुतिन की पार्टी के सर्गेई मिरोनोव ने आरोप लगाया है कि गलत फैसलों के कारण रूसी सेना यूक्रेन के मोर्चे को फतह नहीं कर पाई है। पुतिन के समर्थक मिरोनोव ने कहा की रविवार को मॉस्को डे मनाने की कोई जरूरत नहीं थी जब यूक्रेन में रूसी सैनिक शहीद हो रहे हैं। उधर, सेंट पीटर्सबर्ग, नोवोसीब्रिस्क और वोल्गोग्राद में राष्ट्रपति पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन हुए। ​​​​​रूसी सेनाओं के समर्थन में यूक्रेन के विरुद्ध लड़ रहे चेचन सैन्य कमांडर रमजान कादयारोव ने कहा है कि पूर्वी मोर्चे पर हार बड़ा झटका है। रमजान ने आरोप लगाया है कि रूसी कमांडर पुतिन को यूक्रेन मोर्चे के बारे में अंधेरे में रख रहे हैं। पुतिन को रूसी सेनाओं की मजबूत स्थिति की गलत जानकारी दी जा रही है।

अन्तर्राष्ट्रीय

ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन 15 शहरों में फैला, महिलाओं के साथ पुरुष भी सड़कों पर उतरे, जानिए पूरा मामला

युवा इसके जरिए सीक्रेट मैसेज चला रहे हैं। इसे देखते हुए तेहरान में मोबाइल इंटरनेट बंद और इंस्टाग्राम को ब्लॉक कर दिया गया है। तो वही प्रदर्शकारियों का कहना है कि सरकार हमारे विरोध को बगावत समझ रही है, लेकिन मौलवियों को ये बात समझ में नहीं आएगी। वे आंखें मूंदे बैठे हैं। सरकार इन मौलवियों के भरोसे ज्यादा दिन तक हुकूमत नहीं कर पाएगी। ये मौलवी महिलाओं को अधिकार देने के खिलाफ हैं।

Published

on

ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन 15 शहरों में फैला, महिलाओं के साथ पुरुष भी सड़कों पर उतरे, जानिए पूरा मामला

ईरान में 16 सितंबर से शुरू हुआ हिजाब के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। महिलाओं के साथ पुरुष भी प्रदर्शन में शामिल है। अब ये 15 शहरों में फैल गया है। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़पें भी हो रही हैं। आंदोलन कर रहे लोगों को रोकने के लिए पुलिस ने गोलियां चलाईं। गुरुवार को फायरिंग में 3 प्रदर्शनकारियों की मौत हुई। 5 दिन में मरने वालों की तादाद 31 हो गई है। सैकड़ों लोग घायल हैं। 1000 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। सरकार की मॉरल पुलिसिंग के खिलाफ युवाओं ने गरशाद नाम का मोबाइल ऐप बना लिया है। इस ऐप को 5 दिन में 10 लाख लोगों ने डाउनलोड किया है। युवा इसके जरिए सीक्रेट मैसेज चला रहे हैं। इसे देखते हुए तेहरान में मोबाइल इंटरनेट बंद और इंस्टाग्राम को ब्लॉक कर दिया गया है। तो वही प्रदर्शकारियों का कहना है कि सरकार हमारे विरोध को बगावत समझ रही है, लेकिन मौलवियों को ये बात समझ में नहीं आएगी। वे आंखें मूंदे बैठे हैं। सरकार इन मौलवियों के भरोसे ज्यादा दिन तक हुकूमत नहीं कर पाएगी। ये मौलवी महिलाओं को अधिकार देने के खिलाफ हैं।

दरअसल, यह मामला 13 सितंबर को शुरू हुआ। तब ईरान की मॉरल पुलिस ने 22 साल की युवती महसा अमिनी को हिजाब न पहनने के आरोप में गिरफ्तार किया। 3 दिन बाद यानी 16 सितंबर को उसकी लाश परिवार को सौंपी गई। सोशल मीडिया के जरिए मामला लोगों तक पहुंचा और अब तक यह विवाद 31 लोगों की जान ले चुका है। ईरानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमिनी गिरफ्तारी के कुछ घंटे बाद ही कोमा में चली गई थी। उसे अस्पताल ले जाया गया। रिपोर्ट्स में कहा गया कि अमिनी की मौत सिर पर चोट लगने से हुई।

Continue Reading

अन्तर्राष्ट्रीय

रूस के 38 शहरों में पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन, राष्ट्रपति ने की यूक्रेन में 3 लाख रिजर्व सैनिक तैनात करने की घोषणा

। पुतिन ने कहा, अगर पश्चिमी देश परमाणु हथियारों के इस्तेमाल को लेकर ब्लैकमेल करेंगे तो रूस भी अपनी पूरी ताकत से जवाब देगा। हम अपने देश की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। इसके लिए पुतिन ने सेना के मोबिलाइजेशन को लेकर एक डिक्री पर साइन किया है।

Published

on

रूस के 38 शहरों में पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन, राष्ट्रपति ने की यूक्रेन में 3 लाख रिजर्व सैनिक तैनात करने की घोषणा

रूस-यूक्रेन जंग पिथले 7 महीनों से जारी है। इस बीच रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने 21 सितंबर को यूक्रेन के चार इलाकों में 3 लाख रिजर्व सैनिक तैनात करने की घोषणा की। उनकी इस घोषणा के बाद से ही देशभर में प्रदर्शन शुरू हो गए। पुलिस ने हजारों लोगों को हिरासत में लिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, येकातेरिनबर्ग समेत कुछ शहरों में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हो गई। पुलिस ने लोगों से शांति बनाए रखने और घर लौटने की अपील की थी। प्रदर्शन तेज होने के बाद पुलिस ने लोगों पर लाठियां बरसा दीं। तो वही प्रेसिडेंट पुतिन ने 3 लाख सैनिकों की तैनाती के ऐलान से पहले पश्चिमी देशों पर ‘न्यूक्लियर ब्लैकमेल’ का आरोप लगाया। पुतिन ने कहा, अगर पश्चिमी देश परमाणु हथियारों के इस्तेमाल को लेकर ब्लैकमेल करेंगे तो रूस भी अपनी पूरी ताकत से जवाब देगा। हम अपने देश की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। इसके लिए पुतिन ने सेना के मोबिलाइजेशन को लेकर एक डिक्री पर साइन किया है।

विरोध प्रदर्शन और पुलिस के साथ हुई झड़पों के कुछ वीडियो वायरल हुए हैं। इसमें पुलिस को लोगों के साथ मारपीट करते हुए देखा जा सकता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ने प्रोटेस्ट कर रहीं महिलाओं के साथ बेरहमी से साथ मार-पीट करती दिखी। एक वीडियो में कुछ पुलिस ऑफिसर्स एक महिला को घसीटते हुए दिखाई दिए। एक अन्य वीडियो में देखा जा सकता है कि हजारों की संख्या में लोग सड़कों पर मार्च कर रहे हैं। ‘नो टु वॉर’ के नारे लगा रहे हैं। स्काई न्यूज के मुताबिक, मॉस्को और सेंट पीटर्सबर्ग समेत 38 शहरों में प्रदर्शन कर रहे करीब 1,371 लोगों को हिरासत में लिया है। आपको बता दे रूस ने यूक्रेन पर 24 फरवरी को हमला कर दिया था। पुतिन अब तक इसे स्पेशल मिलिट्री ऑपरेशन बताते आए हैं। जंग की शुरुआत से ही पुतिन के खिलाफ सिर्फ रूस ही नहीं, बल्कि दुनिया के कई देशों में विरोध प्रदर्शन हुए। न्यूयॉर्क और जर्मनी में भी लोग सड़कों पर उतरे थे। वॉशिंगटन में लोगों ने भी रूसी दूतावास के सामने प्रदर्शन किया था।

Continue Reading

अन्तर्राष्ट्रीय

अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने संयुक्त राष्ट्र महासभा संबोधन सत्र में कहा, रूस का मकसद यूक्रेन का वजूद खत्म करना

फिर सायबर वॉर पर बाइडेन ने कहा, जून 2021 में पुतिन से मेरी मुलाकात हुई थी। तब अमेरिका पर रूस के सायबर हमलों का मैंने जिक्र किया था। हम टकराव या जंग नहीं चाहते और न ही कोल्ड वॉर जैसी किसी चीज में रुचि है।

Published

on

अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने संयुक्त राष्ट्र महासभा संबोधन सत्र में कहा, रूस का मकसद यूक्रेन का वजूद खत्म करना

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 77वें सत्र को संबोधित किया। सम्बोधन में अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, मैं साफ बात करना चाहता हूं। UN सिक्योरिटी काउंसिल के एक परमानेंट मेंबर ने पड़ोसी देश पर हमला किया है। इसका मकसद एक देश के तौर पर यूक्रेन का वजूद खत्म करना है। बाइडेन ने कहा, अमेरिका ने हमेशा यही कोशिश की है कि इन हथियारों के इस्तेमाल की नौबत ही न आए। यूएन को हमें ऐसा बनाना होगा कि रूस को हमले का जिम्मेदार ठहराया जा सके। यूक्रेन पर हमले के खिलाफ हम रूस के साथ खड़े हैं। इस जंग के लिए मैं एक देश से ज्यादा एक शख्स को जिम्मेदार मानता हूं। सर्दियां आएंगी तो हालात और खराब हो जाएंगे।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने चीन पर आरोप लगाया कि वो समुद्र में स्वतंत्र आवाजाही यानी ‘फ्रीडम ऑफ नेवीगेशन’ को रोकने की साजिश रच रहा है। उन्हें हिंद और प्रशांत महासागर का जिक्र किया। चीन इस क्षेत्र को ताकत के बल पर हथियाना चाहता है। इशारों में कहा कि अमेरिका इन इरादों को कामयाब नहीं होने देगा। उन्होंने क्लाइमेट चेंज की चुनौती पर कहा, हमने इस बारे में सख्त कानून बनाया है। इस पर अमेरिकी सरकार भारी इन्वेस्टमेंट कर रही है। ग्लोबल वॉर्मिंग की वजह से अमेरिका को भी काफी नुकसान हुआ है। फिर सायबर वॉर पर बाइडेन ने कहा, जून 2021 में पुतिन से मेरी मुलाकात हुई थी। तब अमेरिका पर रूस के सायबर हमलों का मैंने जिक्र किया था। हम टकराव या जंग नहीं चाहते और न ही कोल्ड वॉर जैसी किसी चीज में रुचि है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा यानी UNGA में इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नहीं जा रहे हैं। विदेश मंत्री जयशंकर जनरल असेंबली में शिरकत करेंगे। इस बार संयुक्त राष्ट्र की मीटिंग का एजेंडा रूस पर पाबंदियों में सख्ती लाना ही है। ऐसे में मीटिंग से दूर रहकर भारत ने साफ कर दिया है कि वह रूस पर पश्चिम का एजेंडा थोपे जाने के सामने नहीं झुकेगा। भारत और चीन ही ऐसे देश हैं, जो अमेरिका और यूरोप के आर्थिक प्रतिबंधों के बीच रूस से व्यापार जारी रखे हुए हैं। इससे रूसी अर्थव्यवस्था को काफी सहारा मिला है। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी इस मीटिंग में नहीं आएंगे।

Continue Reading

Facebook

Trending

मोदी का पर्यावरण मंत्रियों से आग्रह, सर्कुलर इकॉनॉमी को दे ज्यादा से ज्यादा बढ़ावा मोदी का पर्यावरण मंत्रियों से आग्रह, सर्कुलर इकॉनॉमी को दे ज्यादा से ज्यादा बढ़ावा
राजनीति4 days ago

मोदी का पर्यावरण मंत्रियों से आग्रह, सर्कुलर इकॉनॉमी को दे ज्यादा से ज्यादा बढ़ावा

ये चुनौती सिर्फ पानी से जुड़े विभाग की ही नहीं है, बल्कि पर्यावरण विभाग को भी इसे उतना ही बड़ी...

बीजेपी सांसद जनार्दन मिश्रा ने किया हाथों से स्कूल का टॉयलेट साफ, ट्वीटर पर किया वीडियो शेयर बीजेपी सांसद जनार्दन मिश्रा ने किया हाथों से स्कूल का टॉयलेट साफ, ट्वीटर पर किया वीडियो शेयर
राजनीति4 days ago

बीजेपी सांसद जनार्दन मिश्रा ने किया हाथों से स्कूल का टॉयलेट साफ, ट्वीटर पर किया वीडियो शेयर

सांसद ने जब देखा कि सेंटर का टॉयलेट काफी गंदा है, उसे साफ नहीं किया गया तो उन्होंने इसे साफ...

CM पद के लिए पायलट ने शुरू की लॉबिंग, हाईकमान से नई जिम्मेदारी का संकेत CM पद के लिए पायलट ने शुरू की लॉबिंग, हाईकमान से नई जिम्मेदारी का संकेत
राष्ट्रीय4 days ago

CM पद के लिए पायलट ने शुरू की लॉबिंग, हाईकमान से नई जिम्मेदारी का संकेत

गांधी परिवार से अध्यक्ष नहीं बनेगा। सूत्रों के मुताबिक अशोक गहलोत 28 सितंबर को नामांकन दाखिल करने की तैयारी में...

कार क्रैश को डिटेक्ट कर सकता है IPhone 14, आप भी जानिए क्या है खबर कार क्रैश को डिटेक्ट कर सकता है IPhone 14, आप भी जानिए क्या है खबर
राष्ट्रीय4 days ago

कार क्रैश को डिटेक्ट कर सकता है IPhone 14, आप भी जानिए क्या है खबर

एक्सपेरिमेंट के दौरान क्रैश डिटेक्शन फीचर एक्सीडेंट के 10 सेकेंड के अंदर एक्टिवेट हो गया। क्रैश का पता लगाने के...

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) ने ख़त्म की वर्क फ्रॉम होम की प्रथा, आप भी जानें टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) ने ख़त्म की वर्क फ्रॉम होम की प्रथा, आप भी जानें
राष्ट्रीय4 days ago

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) ने ख़त्म की वर्क फ्रॉम होम की प्रथा, आप भी जानें

मीडिया में आई खबरों से संकेत मिलता है कि टीसीएस ने अपने अधिकांश कर्मचारियों को एक आधिकारिक ईमेल भेजा है,...

ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन 15 शहरों में फैला, महिलाओं के साथ पुरुष भी सड़कों पर उतरे, जानिए पूरा मामला ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन 15 शहरों में फैला, महिलाओं के साथ पुरुष भी सड़कों पर उतरे, जानिए पूरा मामला
अन्तर्राष्ट्रीय5 days ago

ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन 15 शहरों में फैला, महिलाओं के साथ पुरुष भी सड़कों पर उतरे, जानिए पूरा मामला

युवा इसके जरिए सीक्रेट मैसेज चला रहे हैं। इसे देखते हुए तेहरान में मोबाइल इंटरनेट बंद और इंस्टाग्राम को ब्लॉक...

रूस के 38 शहरों में पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन, राष्ट्रपति ने की यूक्रेन में 3 लाख रिजर्व सैनिक तैनात करने की घोषणा रूस के 38 शहरों में पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन, राष्ट्रपति ने की यूक्रेन में 3 लाख रिजर्व सैनिक तैनात करने की घोषणा
अन्तर्राष्ट्रीय5 days ago

रूस के 38 शहरों में पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन, राष्ट्रपति ने की यूक्रेन में 3 लाख रिजर्व सैनिक तैनात करने की घोषणा

। पुतिन ने कहा, अगर पश्चिमी देश परमाणु हथियारों के इस्तेमाल को लेकर ब्लैकमेल करेंगे तो रूस भी अपनी पूरी...

NIA ने PFI के 93 ठिकानों पर की छापेमारी, 106 सदस्यों को किया अरेस्ट, जानिए पूरा मामला NIA ने PFI के 93 ठिकानों पर की छापेमारी, 106 सदस्यों को किया अरेस्ट, जानिए पूरा मामला
राष्ट्रीय5 days ago

NIA ने PFI के 93 ठिकानों पर की छापेमारी, 106 सदस्यों को किया अरेस्ट, जानिए पूरा मामला

केरल में शुक्रवार को PFI ने एक दिन की हड़ताल का आह्वान किया है। NIA और ED की यह कार्रवाई...

हैदराबाद स्टेडियम में भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच की टिकट बिक्री के दौरान मची भगदड़, जानिए पूरा मामला हैदराबाद स्टेडियम में भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच की टिकट बिक्री के दौरान मची भगदड़, जानिए पूरा मामला
राष्ट्रीय5 days ago

हैदराबाद स्टेडियम में भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच की टिकट बिक्री के दौरान मची भगदड़, जानिए पूरा मामला

। एक फैन ने कहा, ‘जब हमने अपने मनचाहे स्टैंड का टिकट मांगा तो बताया गया कि सिर्फ 850 रुपए...

TMC नेता का शुभेंदु अधिकारी पर तंज, मैं पुरुष हूं, CBI-ED मुझे छू भी नहीं सकती, जानिए पूरा मामला TMC नेता का शुभेंदु अधिकारी पर तंज, मैं पुरुष हूं, CBI-ED मुझे छू भी नहीं सकती, जानिए पूरा मामला
राजनीति5 days ago

TMC नेता का शुभेंदु अधिकारी पर तंज, मैं पुरुष हूं, CBI-ED मुझे छू भी नहीं सकती, जानिए पूरा मामला

दरअसल, भाजपा ने ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार और कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर प्रदेशव्यापी आंदोलन का ऐलान किया था।...

Advertisement

Trending

Copyright © 2022 Bollywood Galiyara. All rights reserved at DigitalGaliyara (OPC) Private Limited.