Connect with us

ताजा

RJD नेता तेजस्वी यादव ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र, जातिगत जनगणना की मांग की

आज 13 अगस्त को प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में RJD नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि केंद्र सरकार द्वारा संसद में यह लिखित सूचना दी गई है कि सेंसस2021 में जनगणना जातिगत आधार पर नहीं होगा

Published

on

Tehashwi Yadab

 बिहार की राजनीति में जाति ने हमेशा से बड़ी भूमिका निभाई है, अब लगने लगा है जैसे जातिगत जनगणना भी एक बड़ा राजनीतिक मुद्दा बन गया है। कुछ दिन पूर्व बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जातिगत जनगणना की मांग करते हुए केंद्र सरकार से अपील की थी कि सेंसस2021 में जनगणना जातिगत आधार पर हो। और अब बिहार में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर जातिगत जनगणना की मांग की है। 

आज 13 अगस्त को प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में RJD नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि केंद्र सरकार द्वारा संसद में यह लिखित सूचना दी गई है कि सेंसस2021 में जनगणना जातिगत आधार पर नहीं होगा। यह काफी दुभाग्यपूर्ण है। पिछड़े और अति पिछड़े वर्ग युगों-युगों से विकास नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में अगर अब भी जातिगत जनगणना नहीं कराई गई तो पिछड़ी और अति पिछड़ी जातियों का सामाजिक, शैक्षणिक, राजनीतिक और आर्थिक स्थिति का सही से आकलन नहीं हो पाएगा और न ही बजट में उन्हें सही आवंटन मिल पाएगा। 

लेटर में आगे लिखा गया है कि अंतिम जातिगत जनगणना 90 साल पहले 1931 में हुई थी। अतः अब समय की मांग है कि अविलंब जातिगत जनगणना कराई जाए। बहुसंख्यक आबादी की भी मांग है कि बिना विलंब के जातिगत जनगणना कराई जाए। 

पत्र में आगे बताया गया है कि बिहार विधानसभा में भाजपा सहित सभी पार्टियों के सहयोग से दो बार जातिगत जनगणना कराने की मांग संबंधित प्रस्ताव पारित किया गया है। पत्र में केन्द्रीय गृह मंत्री के द्वारा साल 2019 में जातिगत जनगणना के संबंध में दिए गए आश्वाशन को याद दिलाया गया है। प्रधानमंत्री को लिखे पत्र के अंत में तेजस्वी यादव ने जातिगत जनगणना के लिए फिर से अनुरोध किया। 

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2021 DigitalGaliyara (OPC) Private Limited