Connect with us

ताजा

बाल मजदूरी करने वाले 6 बच्चों का कराया रेस्क्यू

पांडेसरा पुलिस ने एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट के साथ 6 नाबालिक बच्चों को बाल मजदूरी करते हुए रेस्क्यू कराया। पुलिस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार उधना रोड के बीआरसी गेट के सामने कैलाश नगर में रहने वाले 59 वर्षीय रामचंद्र आनंदराव आंघले ने अपने प्लॉट नंबर 169 और 170 एलाइट सिल्क मिल्स नाम के कारखाने में 6 नाबालिग बच्चों को काम पर रखा था।

Published

on

Rescue of 6 children doing child labor

गुजरात के सूरत शहर में बाल मजदूरी करते बच्चो को रेस्क्यू कराया गया।सूरत के पांडेसरा इलाके का यह मामला है।

पांडेसरा पुलिस ने एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट के साथ 6 नाबालिक बच्चों को बाल मजदूरी करते हुए रेस्क्यू कराया। पुलिस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार उधना रोड के बीआरसी गेट के सामने कैलाश नगर में रहने वाले 59 वर्षीय रामचंद्र आनंदराव आंघले ने अपने प्लॉट नंबर 169 और 170 एलाइट सिल्क मिल्स नाम के कारखाने में 6 नाबालिग बच्चों को काम पर रखा था। पुलिस ने बताया कि आरोपी बच्चों से मजदूरी कर आता था उनका आर्थिक शोषण भी करता था इसके अलावा मेहनत आना भी कम देता था। एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट को मिली जानकारी के बाद पुलिस ने पांडेसरा जीआईडीसी के इलाइट सिल्क मिल्स के पास गाड़ी खड़ी की। वह दो मंजिला बिल्डिंग थी। पुलिस पहले शिर्डी से होते हुए पहली मंजिल पर गई वहां कई सारे मजदूर टेक्सोराइस मशीन पर काम कर रहे थे। इसके बाद पुलिस को यह पता चला कि करीब 20 बच्चे भी यहां पर काम कर रहे हैं उन्हें बुलाकर पूछने पर 6 नाबालिग मिले। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ जुवेनाइल जस्टिस एक्ट 2015 की धारा 79 के तहत मामला दर्ज किया है।
सभी बच्चों की उम्र 17 साल से कमरेस्क्यू कराए गए 6 बच्चों में से सभी की उम्र 17 साल से कम है। यह सभी बच्चे पांडेसरा जीआईडीसी के रहने वाले हैं। रेस्क्यू कराए गए बच्चों में 17 साल के 216 साल के 2 और 15 साल के दो बच्चे थे। बच्चों ने की शिकायतपूछताछ करने पर बच्चों ने बताया कि संचालक सुबह 8:30 बजे कारखाना शुरू करता है और रात को 8 बजे बंद करता है। दोपहर में 1 घंटे के लिए खाना खाने के लिए छुट्टी मिलती है। इसके अलावा मेहनत आना भी कम दिया जाता है। बच्चों का रेस्क्यू कराने के बाद उन्हें काउंसलिंग के लिए कतारगाम के चिल्ड्रन होम भेज दिया गया है।

Disclaimer: This post has been auto-published from an agency news helpline feed without any modifications to the text and has not been reviewed by an editor

Copyright © 2021 DigitalGaliyara (OPC) Private Limited