Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

अफगानिस्तान में छुपा है मसूद अजहर, पाकिस्तान ने तालिबान को लिखा, आतंकी को करें गिरफ्तार

आपको बता दे अजहर सोशल मीडिया पर एक्टिव है। पाकिस्तान के दावे के बावजूद मसूद अजहर ने पाकिस्तानी सोशल मीडिया नेटवर्क पोस्ट लिखना जारी रखा है। उसने अपनी पोस्ट्स में जैश कैडरों से जिहाद में शामिल होने की अपील की है।

Published

on

अफगानिस्तान में छुपा है मसूद अजहर, पाकिस्तान ने तालिबान को लिखा, आतंकी को करें गिरफ्तार

पिछले दिनों पेरिस में इंटरनेशनल वॉचडॉग फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) ने पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में शामिल किया। इस दवाब के चलते पाकिस्तान आतंकवादियों पर कार्रवाई के कदम उठाने के लिए मजबूर हो गया है। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक उसने हाल ही में पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने मसूद अजहर का पता लगाने और उसे हिरासत में लेने के लिए अफगान तालिबान सरकार से संपर्क किया है। तालिबान को लिखे लेटर में यह दावा किया है कि जैश-ए-मोहम्मद (JeM) से जुड़ा मसूद भारत में 2001 में भारतीय संसद पर हमला और 2019 का पुलवामा विस्फोट जैसे कई आतंकी हमलों का जिम्मेदार है। पाकिस्तानी अधिकारियों का मानना है कि वह नंगरहार और कुनार में छिपा हो सकता है। उसे गिरफ्तार करें।

आपको बता दे अजहर सोशल मीडिया पर एक्टिव है। पाकिस्तान के दावे के बावजूद मसूद अजहर ने पाकिस्तानी सोशल मीडिया नेटवर्क पोस्ट लिखना जारी रखा है। उसने अपनी पोस्ट्स में जैश कैडरों से जिहाद में शामिल होने की अपील की है। वहीं काबुल के तालिबान पर कब्जे की प्रशंसा करते हुए लिखा है कि तालिबान की जीत मुसलमानों की जीत के लिए कई और दरवाजे खोल देगी। तो वही पाकिस्तान की जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक अभी तक ये क्लियर नहीं हो सका है कि अजहर अफगानिस्तान कब पहुंचा, अगस्त 2021 में तालिबान के काबुल पर कब्जा करने से पहले या बाद में। अभी तक पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की ओर से कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की गई है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

अन्तर्राष्ट्रीय

पाकिस्तान और चीन के रिश्तों को लेकर अमेरिका ने कसा तंज, जानिए क्या

। खास बात यह है कि हालिया बाढ़ में CPEC का ज्यादातर हिस्सा और सड़कें बह चुकी हैं। अब अमेरिका ने पहली बार चीन से रिश्तों को लेकर पाकिस्तान को घेरा है। जाहिर है अमेरिका अब पाकिस्तान पर सीधा और बहुत ज्यादा दबाव बना रहा है ताकि CPEC के तमाम डॉक्यूमेंट्स पब्लिक हों। बाढ़ से पाकिस्तान में अब तक 1600 लोगों की मौत हो चुकी है।

Published

on

पाकिस्तान और चीन के रिश्तों को लेकर अमेरिका ने कसा तंज, जानिए क्या

पाकिस्तान और चीन के रिश्तों को लेकर अमेरिका ने पहली बार तंज कसा है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो जरदारी ने बीते दिन अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन से मुलाकात की। इस दौरान बिलावल ने अपने मुल्क में बाढ़ से आई तबाही का जिक्र करते हुए मदद मांगी। इस पर ब्लिंकन ने उन्हें दो टूक सलाह दी कि पाकिस्तान को चीन से भी कर्ज अदायगी के मामले में राहत मांगना चाहिए, अमेरिका ने तो हमेशा पाकिस्तान की हेल्प की है। दरअसल, चीन 54 अरब डॉलर की लागत से इकोनॉमिक कॉरिडोर बना रहा है। इसे चाइना पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर यानी CPEC कहा जाता है। इसके लिए चीन ने पाकिस्तान को गुप्त शर्तों पर अरबों डॉलर का कर्ज दिया है। अमेरिका, IMF और वर्ल्ड बैंक CPEC और कर्ज की शर्तों को पब्लिक डोमेन में लाने की मांग करते रहे हैं। पाकिस्तान ने अभी तक CPEC के दस्तावेज सार्वजनिक नहीं किए हैं। खास बात यह है कि हालिया बाढ़ में CPEC का ज्यादातर हिस्सा और सड़कें बह चुकी हैं। अब अमेरिका ने पहली बार चीन से रिश्तों को लेकर पाकिस्तान को घेरा है। जाहिर है अमेरिका अब पाकिस्तान पर सीधा और बहुत ज्यादा दबाव बना रहा है ताकि CPEC के तमाम डॉक्यूमेंट्स पब्लिक हों। बाढ़ से पाकिस्तान में अब तक 1600 लोगों की मौत हो चुकी है।

बिलावल ने दो दिन पहले ही फ्रांस 24 को इंटरव्यू दिया था। इसके अलावा एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की थी। इन दोनों ही मौकों पर पाकिस्तान के फॉरेन मिनिस्टर ने चीन और पाकिस्तान की दोस्ती हिमालय से ऊंची और शहर से मीठी बताया था। ब्लिंकन ने बिलावल के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में साफ तौर पर कहा, मैं पाकिस्तान से कहना चाहता हूं कि वो इस मुश्किल वक्त में चीन से कर्ज अदायगी के मामले में राहत मांगे। कर्ज चुकाने की शर्तों को भी रीस्ट्रक्चर किया जाना चाहिए। इससे आपका मुल्क बाढ़ से हुई तबाही से जल्द उबर पाएगा। बिलावल 10 दिन के अमेरिका के दौरे पर हैं। बीते दिन पाकिस्तान और अमेरिका के बीच डेलिगेशन लेवल की बातचीत हुई। इसमें बिलावल और ब्लिंकन दोनों शामिल हुए। मीटिंग के बाद दोनों विदेश मंत्रियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान ब्लिंकन ने कहा, अमेरिका ने हमेशा पाकिस्तान की मदद की है और आगे भी इसके लिए तैयार है।

Continue Reading

अन्तर्राष्ट्रीय

ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन 15 शहरों में फैला, महिलाओं के साथ पुरुष भी सड़कों पर उतरे, जानिए पूरा मामला

युवा इसके जरिए सीक्रेट मैसेज चला रहे हैं। इसे देखते हुए तेहरान में मोबाइल इंटरनेट बंद और इंस्टाग्राम को ब्लॉक कर दिया गया है। तो वही प्रदर्शकारियों का कहना है कि सरकार हमारे विरोध को बगावत समझ रही है, लेकिन मौलवियों को ये बात समझ में नहीं आएगी। वे आंखें मूंदे बैठे हैं। सरकार इन मौलवियों के भरोसे ज्यादा दिन तक हुकूमत नहीं कर पाएगी। ये मौलवी महिलाओं को अधिकार देने के खिलाफ हैं।

Published

on

ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन 15 शहरों में फैला, महिलाओं के साथ पुरुष भी सड़कों पर उतरे, जानिए पूरा मामला

ईरान में 16 सितंबर से शुरू हुआ हिजाब के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। महिलाओं के साथ पुरुष भी प्रदर्शन में शामिल है। अब ये 15 शहरों में फैल गया है। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़पें भी हो रही हैं। आंदोलन कर रहे लोगों को रोकने के लिए पुलिस ने गोलियां चलाईं। गुरुवार को फायरिंग में 3 प्रदर्शनकारियों की मौत हुई। 5 दिन में मरने वालों की तादाद 31 हो गई है। सैकड़ों लोग घायल हैं। 1000 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। सरकार की मॉरल पुलिसिंग के खिलाफ युवाओं ने गरशाद नाम का मोबाइल ऐप बना लिया है। इस ऐप को 5 दिन में 10 लाख लोगों ने डाउनलोड किया है। युवा इसके जरिए सीक्रेट मैसेज चला रहे हैं। इसे देखते हुए तेहरान में मोबाइल इंटरनेट बंद और इंस्टाग्राम को ब्लॉक कर दिया गया है। तो वही प्रदर्शकारियों का कहना है कि सरकार हमारे विरोध को बगावत समझ रही है, लेकिन मौलवियों को ये बात समझ में नहीं आएगी। वे आंखें मूंदे बैठे हैं। सरकार इन मौलवियों के भरोसे ज्यादा दिन तक हुकूमत नहीं कर पाएगी। ये मौलवी महिलाओं को अधिकार देने के खिलाफ हैं।

दरअसल, यह मामला 13 सितंबर को शुरू हुआ। तब ईरान की मॉरल पुलिस ने 22 साल की युवती महसा अमिनी को हिजाब न पहनने के आरोप में गिरफ्तार किया। 3 दिन बाद यानी 16 सितंबर को उसकी लाश परिवार को सौंपी गई। सोशल मीडिया के जरिए मामला लोगों तक पहुंचा और अब तक यह विवाद 31 लोगों की जान ले चुका है। ईरानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमिनी गिरफ्तारी के कुछ घंटे बाद ही कोमा में चली गई थी। उसे अस्पताल ले जाया गया। रिपोर्ट्स में कहा गया कि अमिनी की मौत सिर पर चोट लगने से हुई।

Continue Reading

अन्तर्राष्ट्रीय

रूस के 38 शहरों में पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन, राष्ट्रपति ने की यूक्रेन में 3 लाख रिजर्व सैनिक तैनात करने की घोषणा

। पुतिन ने कहा, अगर पश्चिमी देश परमाणु हथियारों के इस्तेमाल को लेकर ब्लैकमेल करेंगे तो रूस भी अपनी पूरी ताकत से जवाब देगा। हम अपने देश की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। इसके लिए पुतिन ने सेना के मोबिलाइजेशन को लेकर एक डिक्री पर साइन किया है।

Published

on

रूस के 38 शहरों में पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन, राष्ट्रपति ने की यूक्रेन में 3 लाख रिजर्व सैनिक तैनात करने की घोषणा

रूस-यूक्रेन जंग पिथले 7 महीनों से जारी है। इस बीच रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने 21 सितंबर को यूक्रेन के चार इलाकों में 3 लाख रिजर्व सैनिक तैनात करने की घोषणा की। उनकी इस घोषणा के बाद से ही देशभर में प्रदर्शन शुरू हो गए। पुलिस ने हजारों लोगों को हिरासत में लिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, येकातेरिनबर्ग समेत कुछ शहरों में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हो गई। पुलिस ने लोगों से शांति बनाए रखने और घर लौटने की अपील की थी। प्रदर्शन तेज होने के बाद पुलिस ने लोगों पर लाठियां बरसा दीं। तो वही प्रेसिडेंट पुतिन ने 3 लाख सैनिकों की तैनाती के ऐलान से पहले पश्चिमी देशों पर ‘न्यूक्लियर ब्लैकमेल’ का आरोप लगाया। पुतिन ने कहा, अगर पश्चिमी देश परमाणु हथियारों के इस्तेमाल को लेकर ब्लैकमेल करेंगे तो रूस भी अपनी पूरी ताकत से जवाब देगा। हम अपने देश की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। इसके लिए पुतिन ने सेना के मोबिलाइजेशन को लेकर एक डिक्री पर साइन किया है।

विरोध प्रदर्शन और पुलिस के साथ हुई झड़पों के कुछ वीडियो वायरल हुए हैं। इसमें पुलिस को लोगों के साथ मारपीट करते हुए देखा जा सकता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ने प्रोटेस्ट कर रहीं महिलाओं के साथ बेरहमी से साथ मार-पीट करती दिखी। एक वीडियो में कुछ पुलिस ऑफिसर्स एक महिला को घसीटते हुए दिखाई दिए। एक अन्य वीडियो में देखा जा सकता है कि हजारों की संख्या में लोग सड़कों पर मार्च कर रहे हैं। ‘नो टु वॉर’ के नारे लगा रहे हैं। स्काई न्यूज के मुताबिक, मॉस्को और सेंट पीटर्सबर्ग समेत 38 शहरों में प्रदर्शन कर रहे करीब 1,371 लोगों को हिरासत में लिया है। आपको बता दे रूस ने यूक्रेन पर 24 फरवरी को हमला कर दिया था। पुतिन अब तक इसे स्पेशल मिलिट्री ऑपरेशन बताते आए हैं। जंग की शुरुआत से ही पुतिन के खिलाफ सिर्फ रूस ही नहीं, बल्कि दुनिया के कई देशों में विरोध प्रदर्शन हुए। न्यूयॉर्क और जर्मनी में भी लोग सड़कों पर उतरे थे। वॉशिंगटन में लोगों ने भी रूसी दूतावास के सामने प्रदर्शन किया था।

Continue Reading

Facebook

Trending

राजनीति2 days ago

Ambulance Drama – रियल है या बाकायदा प्लान किया गया

मीडिया को कैसे मैनेज किया जाता है ये तो मोदी जी से बेहतर कोई नहीं जानता, हम पहले भी ऐसे...

SSC Scam में पार्थ चटर्जी की जमानत याचिका पर कोर्ट में हुई सुनवाई, ED ने किया जमानत देने का विरोध SSC Scam में पार्थ चटर्जी की जमानत याचिका पर कोर्ट में हुई सुनवाई, ED ने किया जमानत देने का विरोध
राजनीति5 days ago

SSC Scam में पार्थ चटर्जी की जमानत याचिका पर कोर्ट में हुई सुनवाई, ED ने किया जमानत देने का विरोध

पार्थ पर आरोप है कि मंत्री रहते हुए उन्होंने नौकरी देने के बदले गलत तरीके से पैसे लिए। पार्थ की...

एक वर्कशॉप में IAS अधिकारी ने कहा, बच्चियों को सोच बदलनी होगी, जानिए और क्या कहा एक वर्कशॉप में IAS अधिकारी ने कहा, बच्चियों को सोच बदलनी होगी, जानिए और क्या कहा
राष्ट्रीय5 days ago

एक वर्कशॉप में IAS अधिकारी ने कहा, बच्चियों को सोच बदलनी होगी, जानिए और क्या कहा

वर्कशॉप का मकसद लैंगिक असमानता मिटाने वाली सरकारी योजनाओं से बच्चियों को वाकिफ कराना था, लेकिन जब बच्चियों ने महिला...

सरकार ने केंद्र के कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 4% बढ़ाया, इससे 50 लाख कर्मचारियों को फायदा सरकार ने केंद्र के कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 4% बढ़ाया, इससे 50 लाख कर्मचारियों को फायदा
राजनीति5 days ago

सरकार ने केंद्र के कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 4% बढ़ाया, इससे 50 लाख कर्मचारियों को फायदा

आपको बता दे, महंगाई भत्ता कर्मचारी के बेसिक सैलरी का एक निश्चित परसेंट होता है। देश में महंगाई के असर...

ट्विटर ने एलोन मस्क के फेक एकाउंट्स के दावे को नाकारा, आप भी जानें क्या है खबर ट्विटर ने एलोन मस्क के फेक एकाउंट्स के दावे को नाकारा, आप भी जानें क्या है खबर
राष्ट्रीय5 days ago

ट्विटर ने एलोन मस्क के फेक एकाउंट्स के दावे को नाकारा, आप भी जानें क्या है खबर

मस्क द्वारा नियोजित दो डेटा वैज्ञानिकों से प्राप्त दस्तावेजों से पता चला है कि उन्होंने जुलाई की शुरुआत में अनुमान...

योगी कैबिनेट की होगी अहम बैठक, दर्जनों प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर योगी कैबिनेट की होगी अहम बैठक, दर्जनों प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर
राजनीति5 days ago

योगी कैबिनेट की होगी अहम बैठक, दर्जनों प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में एक दर्जन से अधिक प्रस्तावों को मंजूरी मिल सकती है।...

शिंजो आबे का हुआ राजकीय अंतिम संस्कार, PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि शिंजो आबे का हुआ राजकीय अंतिम संस्कार, PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि
राजनीति6 days ago

शिंजो आबे का हुआ राजकीय अंतिम संस्कार, PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि

जापान की परंपरा के मुताबिक, किंग नारुहितो, क्वीन मासाको, किंग एमेरिटस अकिहितो और क्वीन एमेरिटा मिचिको ने कार्यक्रम में हिस्सा...

पाकिस्तान और चीन के रिश्तों को लेकर अमेरिका ने कसा तंज, जानिए क्या पाकिस्तान और चीन के रिश्तों को लेकर अमेरिका ने कसा तंज, जानिए क्या
अन्तर्राष्ट्रीय6 days ago

पाकिस्तान और चीन के रिश्तों को लेकर अमेरिका ने कसा तंज, जानिए क्या

। खास बात यह है कि हालिया बाढ़ में CPEC का ज्यादातर हिस्सा और सड़कें बह चुकी हैं। अब अमेरिका...

दिल्ली में कांग्रेस नेता ने एयर होस्टेस से किया रेप, जानिए पूरा मामला दिल्ली में कांग्रेस नेता ने एयर होस्टेस से किया रेप, जानिए पूरा मामला
राष्ट्रीय6 days ago

दिल्ली में कांग्रेस नेता ने एयर होस्टेस से किया रेप, जानिए पूरा मामला

? दोनों सोशल मीडिया के जरिए जुड़े या किसी और चैनल से इसकी जांच की जा रही है। साथ ही...

लोग देख सकेंगे संविधान पीठ की सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग, उद्धव वर्सेस शिंदे केस से हुई शुरुआत लोग देख सकेंगे संविधान पीठ की सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग, उद्धव वर्सेस शिंदे केस से हुई शुरुआत
राजनीति6 days ago

लोग देख सकेंगे संविधान पीठ की सुनवाई की लाइव स्ट्रीमिंग, उद्धव वर्सेस शिंदे केस से हुई शुरुआत

उधर, पीठ ने कहा कि हम इस मामले को जल्द सुलझाना चाहते हैं। तो वही जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा,...

Advertisement

Trending

Copyright © 2022 Bollywood Galiyara. All rights reserved at DigitalGaliyara (OPC) Private Limited.