Connect with us

खेल

झाझरिया ने विश्व रिकॉर्ड के साथ जीता पैरालंपिक बर्थ

पुरुषों के एफ46 भाला फेंक वर्ग में 2016 रियो पैरालंपिक चैंपियन देवेंद्र झाझरिया ने बुधवार को संपन्न दो दिवसीय राष्ट्रीय चयन ट्रायल के दौरान टोक्यो पैरालंपिक खेलों के लिए बर्थ जीतने के रास्ते में अपने विश्व रिकॉर्ड में सुधार किया। राजस्थान के 40 वर्षीय पैरा-एथलीट ने ट्रायल के दौरान 65.71 मीटर की दूरी तक भाला फेंका, जो उनके 63.97 मीटर के अपने रिकॉर्ड से बेहतर था। 24 अगस्त से शुरू होने वाला टोक्यो संस्करण झाझरिया का तीसरा पैरालिंपिक होगा। राजस्थान पैरा-एथलीट ने पहली बार 2004 एथेंस पैरालिंपिक में भाग लिया जहां उन्होंने स्वर्ण पदक जीता।

Published

on

Jhajharia wins Paralympic berth with world record

पुरुषों के एफ46 भाला फेंक वर्ग में 2016 रियो पैरालंपिक चैंपियन देवेंद्र झाझरिया ने बुधवार को संपन्न दो दिवसीय राष्ट्रीय चयन ट्रायल के दौरान टोक्यो पैरालंपिक खेलों के लिए बर्थ जीतने के रास्ते में अपने विश्व रिकॉर्ड में सुधार किया। राजस्थान के 40 वर्षीय पैरा-एथलीट ने ट्रायल के दौरान 65.71 मीटर की दूरी तक भाला फेंका, जो उनके 63.97 मीटर के अपने रिकॉर्ड से बेहतर था। 24 अगस्त से शुरू होने वाला टोक्यो संस्करण झाझरिया का तीसरा पैरालिंपिक होगा। राजस्थान पैरा-एथलीट ने पहली बार 2004 एथेंस पैरालिंपिक में भाग लिया जहां उन्होंने स्वर्ण पदक जीता। झाझरिया ने रियो में अपना दूसरा स्वर्ण पदक जीता।भारतीय पैरालंपिक समिति (पीसीआई) ने टोक्यो खेलों के लिए चुने गए 24 पैरा-एथलीटों में पुरुषों के एफ-42 में रियो पैरालंपिक खेलों की ऊंची कूद चैंपियन मरियप्पन थंगावेलु, वरुण भट्टी और शरद कुमार शामिल हैं।पुरुषों के एफ-64 में संदीप चौधरी और सुमित अंतिल ने कट बनाया है। अंतिल के नाम 66.70 मीटर का विश्व रिकॉर्ड है जबकि चौधरी ने दोहा में आयोजित 2019 विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था। अंतर्राष्ट्रीय पैरालंपिक समिति (आईपीसी) को अंतिम प्रविष्टियां भेजने की अंतिम तिथि 1 अगस्त है। 

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2021 DigitalGaliyara (OPC) Private Limited