Connect with us

ताजा

जोमाटो के निवेशक कैसे पता करें शेयर्स मिले या नहीं ? – तरीका जानिए

जोमाटो फ़ूड डिलीवरी और रेस्टोरेंट समूहक प्लेटफार्म जिसकी स्थापना दपिंदर गोयल और पंकज चड्ढा ने 2008 में फूडीबे के नाम पर कि जिसे जोमाटो नाम 2010 में दिया गया था।

Published

on

How to know Zomato investors got shares or not - Know the way

जोमाटो फ़ूड डिलीवरी और रेस्टोरेंट समूहक प्लेटफार्म जिसकी स्थापना दपिंदर गोयल और पंकज चड्ढा ने 2008 में फूडीबे के नाम पर कि जिसे जोमाटो नाम 2010 में दिया गया था। 

फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो पहली फ़ूड टेक यूनिकॉर्न है जिसने अपने IPO में निवेशकों को खूब आकर्षित किया है। IPO में रिटेल निवेशकों के लिए रिजर्व हिस्सा 8 गुना सब्सक्राइब हुआ है । नॉन इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स का हिस्सा 35  सब्सक्राइब हुआ है और क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) के लिए रिजर्व हिस्से में सबसे ज्यादा 55 गुना सब्सक्राइब हुआ है। बाज़ार के सूत्रों के अनुसार शेयरों का अलॉटमेंट 22 जुलाई से ही शुरू हो सकता है और शेयरों का अलॉटमेंट को 23 जुलाई तक फाइनल किया जा सकता है ।

निवेशकों का रुझान, इन्वेस्टर्स की फंडिंग और हाल ही में हुए विकास को देखकर कंपनी को उम्मीद है कि उसे 8.7 अरब डॉलर का वैल्यूएशन मिल जानेकी उम्मीद है। 

Zomato IPO में शेयरों का अलॉटमेंट 22 जुलाई से शुरू हो सकता है। अगर निवेशकों IPO में कोई शेयर अलॉट नहीं किये गए तो 23 जुलाई को अलॉटमेंट के का पैसा रिफंड हो जाएगा और मान लो की अलॉटमेंट में शेयर मिल जाते हैं तो डिमैट खाते में 26 जुलाई तक शेयर ऐड कर दिए जा सकते है।  अलॉटमेंट का स्टेटस वेबसाइट (Link Intime India Private website) या स्टॉक एक्सचेंज (BSE https://www.bseindia.com/investors/appli_check.aspx) की वेबसाइट से पता चलेगा । ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक, 26 जुलाई को शेयर डिमैट खाते में जमा होने के बाद 27 जुलाई को NSE, BSE पर लिस्टिंग होगी। 

Disclaimer: This post has been auto-published from an agency news helpline feed without any modifications to the text and has not been reviewed by an editor

Copyright © 2021 DigitalGaliyara (OPC) Private Limited