Connect with us

ताजा

कैंसर का इलाज कराने के लिए की थी बाइक चोरी गिरफ्तार, कपड़ा दलाली से खासा फायदा नहीं हुआ तो शराब बेचते हुए एक गिरफ्तार

कापोदरा इलाके से चोरी हुई बाइक के मामले में पुलिस ने 23 साल के आरोपी को गिरफ्तार किया है। हालांकि आरोपी की कहानी सुनने के बाद पुलिस ने उसके प्रति सहानुभूति जताई है। पकड़े जाने पर आरोपी ने कारण बताया कि उसे ब्लड कैंसर है। वह एक सॉफ्टवेयर डिजाइनर है लेकिन फिलहाल उसका काम बंद था। इलाज के लिए पैसों की जरूरत थी इसलिए उसे बाइक चोरी करनी पड़ी।

Published

on

Bike theft was arrested for the treatment of cancer, if the cloth brokerage did not benefit much, then one arrested while selling liquor

कापोदरा इलाके से चोरी हुई बाइक के मामले में पुलिस ने 23 साल के आरोपी को गिरफ्तार किया है। हालांकि आरोपी की कहानी सुनने के बाद पुलिस ने उसके प्रति सहानुभूति जताई है। पकड़े जाने पर आरोपी ने कारण बताया कि उसे ब्लड कैंसर है। वह एक सॉफ्टवेयर डिजाइनर है लेकिन फिलहाल उसका काम बंद था। इलाज के लिए पैसों की जरूरत थी इसलिए उसे बाइक चोरी करनी पड़ी।
 पुलिस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार 10 दिन पहले कापोदरा के वराछा रोड पर मढुली डायमंड के बाहर से हरेश तालाब या की बाइक चोरी हो गई थी। इस मामले की जांच पीएसआई डीके चौसला कर रहे थे। बाइक चोरी हुई उसके आसपास के सीसीटीवी कैमरा की जांच की तो एक युवक दिखाई दिया। पुलिस ने जब उस दिशा में आगे जांच की तो एक और सीसीटीवी कैमरे में युवक दिखा। 12 जगहों पर सीसीटीवी कैमरा की जांच करने पर एक आरोपी के घर तक पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने रचना सर्कल के पास गोकुल नगर में रहने वाले राजवीर उर्फ राज सावंत तेरैया को गिरफ्तार किया। पूछताछ करने पर 23 वर्षीय राजवीर की कहानी सुनने के बाद पुलिस हैरान हो गई। राजवीर ने पुलिस को बताया कि उसके पिता उपलेटा में पुलिस जमादार थे और 8 महीने पहले रिटायर हो चुके हैं। राजवीर खुद एक सॉफ्टवेयर डिज़ाइनर है। डेढ़ साल पहले तक उसका काम अच्छा चल रहा था लेकिन कोरोनावायरस आ जाने के कारण काम बिगड़ने लगा। दूसरी तरफ तो सिर्फ ब्लड कैंसर है और इलाज के लिए हजारों रुपए खर्च के लिए नियमित तौर पर देने पड़ते थे। इसलिए उसने चोरी करने का फैसला किया। दूसरे किसी प्रकार का अपराध करने पर पकड़े जाने का खतरा ज्यादा था। बाइक रास्ते से चुरा कर किसी को भी तुरंत भेज कर पैसे कमाए जा सकते थे इसलिए उसने इस तरह की चोरी करने का फैसला किया। राजवीर ने पुलिस को बताया कि उसने चोरी की हुई बाइक प्रवीण लक्ष्मण सिंह आडा को बेची है। पुलिस ने प्रवीण के पास से बाइक जप्त कर उसे गिरफ्तार किया है। प्रवीण ऑनलाइन बिजनेस करता है। राजवीर ने ₹16000 में प्रवीण के साथ सौदा किया था। जिसमें से ₹2000 ही लिए थे और बाकी के रुपए प्रवीण बाद में देने वाला था।पिता से नहीं मांगता है पैसेजांच अधिकारी पीएसआई डीके चौसला ने बताया कि उसके पिता पुलिस से रिटायर हो चुके हैं लेकिन वह उनसे कभी आर्थिक मदद नहीं मांगता था। उसे यह अच्छा नहीं लगता था। इसलिए उसने बीमारी से लड़ने के लिए खुद ही पैसों का इंतजाम हो जाए इसलिए कुछ ना कुछ सोच रहा था। उसने यह पहली बार ही किया है इसके अलावा उसका जो साथ ही पकड़ा गया है यह दोनों पहली बार किसी आरोप में पकड़े गए हैं।  उच्च अधिकारियों से बात कर सहायता करेंगेमिली जानकारी के मुताबिक आरोपित राजवीर आरोप में पकड़ा गया है लेकिन जमानत मिलने के बाद उच्च अधिकारियों से बात करने पर उसकी आर्थिक मदद करने पर फैसला लिया जाएगा। क्योंकि उसके पिता भी एक पुलिसकर्मी रह चुके हैं इसलिए भी उसे इस बीमारी से लड़ने में मदद की जाएगी। वह कैंसर के पहले स्टेज में है और पिछले 6 से 8 महीने पहले ही पीड़ित हुआ है।  आर्थिक तंगी के कारण कपड़ा दलाल को बेचनी पड़ी शराबपुणा पुलिस ने शनिवार को कपड़ा दलाल को महाराष्ट्र से ₹26000 की 17 शराब की बोतलों के साथ गिरफ्तार किया। काम ठीक से चल नहीं रहा था इसलिए अल थान में रहने वाले हैं कपड़ा दलाल है शराब डिलीवर करने का काम शुरू किया था। पुलिस की टीम पेट्रोलिंग पर थी जब उन्हें जानकारी मिली कि सूरत कडोदरा रोड पर वेडवा गांव की तरफ जाने वाले रोड के पास से एक युवक शराब लेकर गुजरने वाला है। पुलिस ने जानकारी के आधार पर 31 वर्षीय आरोपी अभिषेक गुप्ता को गिरफ्तार किया। जानकारी मिली कि अभिषेक टेक्सटाइल व्यापारी के पास नौकरी का साथ कपड़ा दलाली भी करता था और वह महाराष्ट्र के पुणे गया हुआ था।

Disclaimer: This post has been auto-published from an agency news helpline feed without any modifications to the text and has not been reviewed by an editor

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2021 DigitalGaliyara (OPC) Private Limited