Connect with us

ताजा

दिल्ली पुलिस ने अशोक प्रधान गैंग के शार्प शूटर को गिरफ़्तार किया

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को बताया कि उन्होंने कुख्यात गैंगस्टर अशोक प्रधान गैंग के शार्प शूटर को गिरफ़्तार किया जो काला जैथड़ी गैंग के एक सदस्य की हत्या के मामले में वांछित था। बताया जा रहा है गिरफ़्त आरोपी पर 50 हज़ार रुपए इनाम था।

Published

on

Ashok Pradhan Shooter arrested

पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) स्पेशल सेल प्रमोद कुमार कुशवाह ने बताया कि रोहित की सनसनीखेज हत्या में शामिल शार्प शूटर प्रिंस फरार था। उन्होंने बताया कि प्रिंस को 4 जून को रात 10 बजे दिल्ली के कुतुब गढ़वा रोड स्थित नवोदय विद्यालय के पास से गिरफ्तार किया गया था और उसके पास से तीन जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं ।

कुशवाह ने कहा कि राजकुमार कुख्यात गैंगस्टर का शार्प शूटर है जो पिछले साल 26 दिसंबर को दिल्ली के बवाना में हुई सनसनीखेज गोलीबारी सहित कई मामलों में वांछित था जिसमें रोहित की मौत हो गई थी।

डीसीपी ने बताया कि पुलिस को राजकुमार के मूवमेंट की जानकारी मिली थी और पता चला कि वह 4 जून की रात को नवोदय स्कूल के पास आ जाएगा ।  एक बार जब वह पहुँचा, तो उसे टीम ने घेर लिया गया और उसे पकड़ लिया गया ।  उसके पास से तीन जिंदा कारतूस के साथ एक सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल भी बरामद की गई ।

और भी पड़ें: तमिलनाडु के मुदुमलाय टाइगर रिज़र्व में 28 हाथी कोरोना संक्रमित हुए

कुशवाहा ने कहा, “पूछताछ के दौरान, गिरफ़्त आरोपी ने बताया की वो और उसके साथी अभिषेक व राजेश अशोक प्रधान की गैंग से तालुक़ात रखते है और उसकी गैंग की काला जथेडि गैंग के संदीप से ख़ासी दुश्मनी है।”

आरोपी ने आगे बताया कि अभिषेक का संदीप के सक्रिय सहयोगी प्रियव्रत के साथ भयंकर प्रतिद्वंद्विता चल रही थी ।  अभिषेक, प्रधान गैंग के राजेश और उनके साथियों ने जनवरी 2020 में प्रियव्रत के घर पर फायरिंग कर उसे धमकी दी थी ।  राजकुमार (प्रिन्स) ने आगे कहा है कि उन्हें शक था कि रोहित, प्रतिद्वंद्वी गिरोह का एक सदस्य संदीप को अपने गिरोह की गतिविधियों के बारे में जानकारी देता था ।  उन्होंने बताया कि राजकुमार ने आगे बताया कि वह अपने तीन साथियों अभिषेक, संजय और आकाश के साथ मिलकर पूरी तरह से हथियारबंद दो बाइक पर सवार होकर पिछले साल 26 दिसंबर की रात रोहित को गोली मारकर हत्या कर दी थी ।  कुशवाह ने बताया कि रोहित की हत्या से प्रियव्रत और संदीप गिरोह के अन्य सदस्यों को उकसाया ।

“रोहित की हत्या का बदला लेने के लिए प्रियव्रत ने अपने गिरोह के सदस्यों के साथ मिलकर इसी साल 6 मार्च को शशि कादयान की गोली मारकर हत्या कर दी थी। कादयान अभिषेक और राजेश का करीबी था, जो प्रधान गिरोह के दोनों सक्रिय सदस्य थे।”

डीसीपी ने कहा,” एक अन्य मामले में, प्रियव्रत ने अपने साथियों के साथ पिछले साल हरियाणा के सोनीपत में संदीप और लॉरेंस बिश्नोई के निर्देश पर ढोले की गोली मारकर हत्या कर दी थी।”

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2021 DigitalGaliyara (OPC) Private Limited